Ankhon Main Hain Aansoo

आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा
तेरे द्वार पे आया हूँ माँ, देदे मुझे सहारा

सारी दुनिया तेरी बनाई, मैं भी तेरा बनाया
कोई धनवान कोई निर्धन माँ कैसी तेरी माया
कहीं पे हीरे, कहीं पे मोती, कहीं पे पत्थर, कहीं पे रेती
कहीं खुसी के मिले नज़ारे, कहीं पे दुनियाँ ग़मों में रोती
सुखी वही है जिसे तुम्हारा, माँ मिल जाये द्वारा
आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा ...
जब-जब दीप जलाये मैने, तब-तब तूफां आये
जीवन में है घोर अँधेरा, कैसे इसे मिटायें
भटक गया माँ राह से अपनी, दर-दर ठोकर खायीं
थक जीवन से माँ मैंने, तेरी आस लगायी
डूब रही है नैया मेरी , देदो मुझे सहारा
आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा ...
जीवन से घवराया है दिल, बस रोना आता है
बढ जाता है दर्द तो लव पे, माँ का नाम आता है
जब में तेरे दर पे आया, मुझको मिला करार माँ
जैसा भी हूँ लाल तेरा हूँ, देदे अपना प्यार माँ
जब भी कष्टों ने घेरा, बस दिल ने तुझे पुकारा
आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा ...
मेरे मिट जाने से माँ, तेरी महिमा घट जाएगी
ध्वजा, नारियल भैट चढाने दुनिया न आएगी
लग जायेगा धब्बा तेरी, निर्मल शक्ति की चुनरी में
क्यूँ ना लाज बचाई माँ ने, अपने लाल की बिगड़ी में
सुनले विनती, चमका दे माँ किस्मत का सितारा
आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा ...
महिमा तेरी दाती, इस जग के कण-कण में है समाई
दुनिया की रक्षक तू देवी, तू ही है महामाई
"उदय" तेरे गुण गाने माँ, तेरे द्वारे आया है
भेंट नहीं है कुछ देने को, आँख में आँसू लाया है
करके कृपा दिखादे माँ, सबको अपना नज़ारा
आँखों में हैं आँसू माँ में गर्दिश का हूँ मारा ...

Available on www.sgnos.com singer: Kumar Vishu
Music by: Anil Sharma Lyrics: Uday Pundhir