Rab maa bankar aaya

रब ने बनाया, जग सारा जब। दुःख भी सुख भी बनाया
पीर बनाई, दर्द बनाया । रब खुद माँ बनकर आया

मुझको सुलाया बनके बिछोना । लोरी गाके सुलाया
लाड लुटाया, प्यार लुटाया। ममता से नहलाया
रब खुद माँ बनकर आया
धुल भरा तन हृदय लगाया । तन-मन सब कुछ वारा
ज्ञान दिया जीवन दाती ने ।उंगली पकड़ चलाया
रब खुद माँ बनकर आया
रिश्ता ऐसा और न कोई। रब को ये रिश्ता भाया
देवी माँ - महारानी माँ बन। रव ही माँ कहलाया
रब खुद माँ बनकर आया
माँ ममता है माँ करुणा है । माँ ही माँ का साया
माँ जैसी बस माँ ही तो है । माँ मै ही महा माया
रब खुद माँ बनकर आया
Available on www.sgnos.com singer: Vidhi Sharma
Music: Anil Sharma, Lyrics: Uday Pundhir