tera darshan agar mil - तेरा दर्शन अगर मिल जाता

तेरा दर्शन अगर मिल जाता अम्बे रानी मैं फ़ूला ना समाता
तेरे चरणो में गिर छूके तेरे चरण, तेरे चरणो में लिपट के रह जाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
धरती सागर से ले, चंदा सूरज तलक तेरे दर्शन की बातें बता आता
कहता काँटों से फूल चुन-चुन के ला, तेरे चरणों में हार चढ़ाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
बैठ कर एक-टक, देख चरणों नख, मैं तो तन मन की सुध भी भुला जाता
सूरत को लख हाथ चरणों पे रख, तुझे दिल का हाल बता ता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
रो के कहता तुझे, भोली मैया मुझे तेरा भोला सा रूप सुहाता
तेरी पायल का नग होता माँ मेरा मन तेरे चरणों की जय -जय गाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
कहती चलने को जब तेरा दामन पकड़, तेरा लाल बिछड ना पाता
पास आ माँ मेरी, मुझे दिल लगा, उदय मैया का हो के रह जाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
तेरी चुनरी में माँ लाली छायी हुयी, ओढ़ चुनरी तेरा लाल बन जाता
देती वरदान जो दिल का अरमान है, मैं तो पल-पल पे दर्शन पाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
अम्बे रानी मेरी महारानी मेरी, मैया रानी मैं कह के बुलाता
भोली सूरत तेरी अच्छी किस्मत मेरी, उदय चरणों में बिता जाता
तेरा दर्शन अगर मिल जाता
by Shri Uday Pundhir

Available on TimesMusic